जानें किन सरकारी नौकरियों के लिए जरुरी है टाइपिंग स्किल? सफल होने के लिए बरतें ये सावधानियां - State Jobs

Breaking

Wednesday, July 24, 2019

जानें किन सरकारी नौकरियों के लिए जरुरी है टाइपिंग स्किल? सफल होने के लिए बरतें ये सावधानियां

हम सभी का सरकारी नौकरी पाने का सपना होता है. प्राइवेट जॉब में बढ़ते अवसर के बावजूद सरकारी नौकरी जैसी लोकप्रियता वहां नहीं है. हालांकि जहां एक और कई सरकारी नौकरी की परीक्षाओं जैसे - एसएससी सीजीएल, एसएससी सीएचएसएल, बैंकिंग में चयन हेतु प्रतियोगिता काफी कठिन मानी जाती हैं, वहीं दूसरी ओर कुछ सरकारी नौकरियों में स्किल्स को प्राथमिकता दी जाती है और चयन उन्ही स्किल्स में दक्षता के आधार पर किया जाता है. सरकारी नौकरी के संदर्भ में सबसे जरूरी स्किल है हिंदी टाइपिंग, विशेषतौर पर तब जबकि आप सरकारी विभागों में क्लर्क (एलडीसी), डाटा इंट्री ऑपरेटर (डीईओ), क्लर्क-कम-टाइपिस्ट, स्टेनोग्राफर, असिस्टेंट-कम-टाइपिस्ट आदि जैसे पदों पर चयन की चाह रखते हों.
यदि आप अपने आपको भीड़ से अलग रखना चाहते हैं तो हिंदी टाइपिंग इस संदर्भ में आपकी मदद कर सकता है, क्योंकि बहुत से उम्मीदवार हिंदी टाइपिंग में काफी असहज होते हैं. दूसरी तरफ हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा होने के कारण ज्यादातर सरकारी विभागों में हिंदी टाइपिंग का प्रयोग होता है और यदि आप इस स्किल में निपुण हैं तो अंतिम चयन सूची में आपका नाम होने की संभावना बढ़ जाती है.
हिंदी टाइपिंग सरकारी नौकरी में चयन के लिए आवश्यक स्किल्स में से एक होने के बावजूद ज्यादातर उम्मीदवार इससे जुड़ी बारिकियों को नहीं जानते हैं. उन्हीं की मदद के लिए हमने 5 सर्वाधिक महत्वपूर्ण बातों की सूची बनाई है.
                                   टाइपराइटर या कंप्यूटर
आज के बदलते तकनीक प्रधान परिदृश्य में किस इंस्ट्रूमेंट, टाइपराइटर या कंप्यूटर पर टाइपिंग टेस्ट होगा, इसे लेकर काफी दुविधा होती है. हालांकि इस संदर्भ में कोई निश्चित पैटर्न देखने को नहीं मिलता है, लेकिन ज्यादातर सरकारी विभाग या तो कंप्यूटर आधारित कार्य-प्रणाली अपना चुके हैं या इस प्रक्रिया में हैं. इसलिए कंप्यूटर पर ही हिंदी टाइपिंग टेस्ट की तैयारी करनी चाहिए. फिर भी यदि आप परंपरागत मशीन से टाइपिंग में सहज पाते हैं तो आप टेस्ट के दौरान टाइपराइटर का इस्तेमाल कर सकते हैं, क्योंकि कई विभाग ऐसा करने की अनुमति देते हैं. हमारी सलाह है कि आप टेस्ट से पूर्व संबंधित विभाग से पूछताछ कर लें.
                                               फॉन्ट
भाषागत व व्याकरण दोनो ही संदर्भों में हिंदी टाइपिंग अब आम हो चुकी इंग्लिश टाइपिंग की तुलना में काफी जटिल है. इसलिए फॉन्ट टाइप का चयन सरकारी नौकरियों में बहुत महत्व रखता है. आमतौर पर सरकारी नौकरियों में हिदी टाइपिंग टेस्ट मंगल या क्रुतिदेव फॉन्ट पर किया जाता है. उम्मीदवारों एवं परीक्षकों दोनो की बेहतर विजिबिलिटी के लिए फॉन्ट साइज 14 रखी जाती है.
                                               स्पीड
टाइपिंग टेस्ट के लिए स्पीड बहुत महत्वपूर्ण है. आमतौर पर ज्यादातर सरकारी नौकरियों में 25 से 35 शब्द प्रति मिनट की स्पीड की अपेक्षा की जाती है. इसका अर्थ है कि उम्मीदवारों को एक मिनट में 25 से 35 शब्द टाइप करने की गति से परीक्षा देनी होती है. निम्न ग्रेड के पदों के लिए टाइपिंग टेस्ट कम अवधि का होता है और इसमे कम स्पीड की अपेक्षा रखी जाती है लेकिन ग्रेड बढ़ने के साथ-साथ इन दोनों ही मामलों में अधिक प्रदर्शन करना होता है.
  

No comments:

Post a Comment